ALL NATIONAL UTTARAKHAND CRIME DELHI WORLD ENTERTAINMENT POLITICS SPORTS HIMACHAL BUSINESS
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात
May 29, 2020 • Utkarsh

देश में 31 मई के बाद लॉकडाउन जारी रखने के मुद्दे पर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से हुई चर्चा के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस मुलाकात में गृहमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के विचारों और सुझावों से प्रधानमंत्री को अवगत कराया। समझा जा रहा है कि एक-दो दिन में अगले चरण के बारे में घोषणा हो सकती है। मालूम हो कि देश में जारी लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को खत्‍म हो रहा है।  

कोरोना की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार 24 मार्च को 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की थी। फिर इसे पहले 3 मई तक और फिर 17 मई तक और बाद में 31 मई तक बढ़ा दिया गया। हालांकि कोरोना महामारी की अपेक्षित रोकथाम न होने से एक बार फिर लॉकडाउन के आसार बन रहे हैं। इस संदर्भ में राज्यों की राय जानने के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को मुख्यमंत्रियों के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। सूत्रों के अनुसार शाह ने मुख्यमंत्रियों से जानना चाहा कि उनकी चिंताएं क्या हैं, और वे पहली जून से अपने राज्यों में किन क्षेत्रों में क्या रियायतें दे सकते हैं।

गृहमंत्री अमित शाह के साथ चर्चा में कई मुख्यमंत्रियों द्वारा सहमति जताए जाने के बाद लॉकडाउन के अगले चरण की संभावना बढ़ गई है। हालांकि सरकार की मंशा है कि इस दौरान आर्थिक गतिविधियों में बढ़ोतरी हो और आम लोगों को भी कुछ रियायतें मिल जाएं। हालांकि कुछ मामलों में पूर्व की भांति सख्ती रहेगी। 

कर्नाटक और बंगाल की सरकार द्वारा पहली जून से मंदिर मस्जिद समेत सभी पूजा स्थलों को खोलने की इजाजत देने से समझा जा रहा है कि अन्य राज्यों में भी शारीरिक दूरी और अन्य सुरक्षा उपायों के साथ धर्मस्थलों को खोलने की इजाजत मिल जाए। रेलवे द्वारा पहली जून से चलाई जा रही 100 जोड़ी ट्रेनों से जनजीवन पटरी पर आने में काफी मदद मिलने वाली है। लंबे समय से वीरान पड़े बीच के स्टेशनों पर रौनक दिखाई देगी। रेलवे ने हालांकि यात्रियों और अपने स्टाफ की सुरक्षा के लिए पर्याप्त प्रबंध किए हैं। लॉकडाउन के इस चरण में स्कूल कालेज खुलने की फिलहाल कोई संभावना नहीं है। मानव संसाधन मंत्रालय इस दिशा में रास्ता तलाश रहा है। स्कूल-कालेज जब भी खुलेंगे पहले बड़ी कक्षाओं को ही पूरे सुरक्षा बंदोबस्त के साथ इजाजत दी जाएगी। सीबीएसई की परीक्षाएं पहली जुलाई से होनी हैं। इसके लिए सभी को मास्क पहनने और उचित शारीरिक दूरी के नियम के पालन की हिदायत दी गई है।